fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

उत्तर प्रदेश: बीजेपी उम्मीदवार ने वोटिंग से पहले ही मानी हार ?- कह डाली यह बड़ी बात

Uttar-Pradesh:-BJP-candidate-accepted-defeat-before-voting? -Said-this-thing
(Image Credits: Voter Vote Kar)

मौजूदा सरकार अक्सर जनता का उनके ऊपर भरोसे की तारीफ करती आई है। इसके साथ साथ उनके पार्टी के कुछ नेताओं द्वारा अक्सर चुनाव जीतने का विश्वास भी दिखाया जाता है। साथ ही पार्टी के कुछ बड़े नेता यह भी दावा करते है की उन्हें आने वाले 50 सालो तक कोई सत्ता से नहीं हटा सकता है। लेकिन यह तो आने वाले समय में जनता द्वारा ही तय किया जाएगा की कौन कितने समय तक सत्ता में बना रहेगा। खैर आने वाले 50 सालों को छोड़ दीजिए अब हम वर्तमान की बात करते हैं।

Advertisement

2019 के लोकसभा चुनाव शुरू होने के बाद जहाँ कुछ राजनीतिक पार्टियों में उत्सुकता का माहौल है। वहीं दूसरी ओर कुछ पार्टियों के नेताओ ने चुनाव परिणाम आने से पहले ही अपनी हार मान ली है। हम बात करने जा रहे है उत्तर प्रदेश से भारतीय जनता पार्टी के नेता कुंवर सर्वेश कुमार की। जिन्होंने हाल ही में एक बयान देकर सनसनी से मचा दी है।

भाजपा नेता सर्वेश कुमार ने कहा इस बार मुरादाबाद सीट को बचाएं रखना मुश्किल सा होता जा रहा है। जहां 23 अप्रैल को होने वाले चुनावों से पहले मुस्लिम वोटों के ध्रुवीकरण की वजह से पार्टी की सीधी टक्कर कांग्रेस के साथ होने वाली है। बीजेपी नेता को इस सीट से कांग्रेस के इमरान प्रतापगढ़ी के खिलाफ उतारा गया है। कांग्रेस पार्टी से उम्मीदवार इमरान वही है, जिन्होंने भाजपा नेता पर अक्सर अपनी आवेगपूर्ण कविताओं से निशाना साधा है। और इसके साथ ही मौजूदा सरकार पर सवाल भी उठाये हैं।

चुनाव प्रचार तेज होने के साथ ही सपा-बसपा-रालोद गठबंधन के एस टी हसन भी मुस्लिम वोटों को जीतने की कोशिश में है। इस निर्वाचन क्षेत्र में कुल 19.41 लाख मतदाताओं में से 47 प्रतिशत मुस्लिम हैं। हालांकि, समुदाय के सदस्यों ने अब तक यह खुलासा नहीं किया है कि वह इस बार किसको समर्थन देंगे।

भाजपा नेता कुंवर सर्वेश कुमार ने इस प्रकार विपक्षी पार्टी के उम्मीदवार के प्रति अपना डर दिखाकर बीजेपी की नाकामियों को शाबित कर दिया है। उनके इस प्रकार की बैचनी से पता चलता है की अब उनकी पार्टी भाजपा लोगो का विश्वास जीतने में असफल होती जा रही है। बता दें की भाजपा नेता सर्वेश कुमार राजनीति दिग्गज भी माने जाते हैं।


हालांकि कुछ राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है की मुस्लिम समुदाय के लोग चुनाव प्रचार के आखिरी दिनों में अपने मत का निर्णय लेते है। भाजपा नेता सर्वेश कुमार भले ही राजनीति दिग्गज और अपने इलाके के प्रख्यात नेता हो, लेकिन फिर भी वह दुबारा चुने जाने के लिए निश्चित नहीं है। कुमार ने बताया, ‘यह चुनाव मुश्किल होने जा रहा है.’ उन्होंने कहा, ‘मुस्लिम मतों का बंटवारा नहीं हुआ है. चुनाव कांग्रेस बनाम भाजपा हो गया है.’

भाजपा नेता कुंवर सर्वेश कुमार ठाकुरद्वारा से विधायक रहे हैं और 2014 में मुरादाबाद से सांसद भी चुने गए। उनका बेटा अब बरहापुर से विधायक है जो कि संसदीय क्षेत्र की पांच विधानसभा सीटों में से एक है। यहाँ मुस्लिमों के अलावा जाटव मतदाताओं की संख्या नौ प्रतिशत है। जाटव परंपरागत तरीके से बसपा को समर्थन देते आए हैं।

इतना ही नहीं भारतीय जनता पार्टी यहां कई तरीको से फसती नजर आ रही है। क्योंकि अनुसूचित जाति समुदाय-वाल्मीकि से आने वाले उसके मतदाता भी अपने स्थानीय सांसद कुमार से खुश नहीं हैं। उन्होंने कहा है कि वे या तो बसपा-सपा-रालोद गठबंधन को समर्थन देंगे या अपना वोट नहीं डालेंगे।

आइये हम आपको मुरादाबाद सीट का थोड़ा चुनावी इतिहास बताने की कोशिश करते हैं। दरअसल यहां 1952 के बाद से हुए 17 चुनावों में मुस्लिम उम्मीदवारों ने 11 बार इस सीट पर जीत हासिल की है। और इसके साथ साथ मुस्लिम उम्मीदवारों ने भाजपा के अलावा सभी प्रमुख राजनीतिक दलों के टिकट से भी चुनाव लड़ा है। भारतीय जनसंघ ने दो बार यह सीट जीती है और भाजपा को 2014 में पहली बार इस सीट पर जीत मिली थी। जब हसन और हाजी मोहम्मद याकूब के बीच मुस्लिम मतों के विभाजन ने कुमार की यह सीट जीतने में मदद की थी।

इन सभी बातो से तो लगता है की इस सीट से बीजेपी का जीतना आसान नहीं होगा। लेकिन बीजेपी जीत हासिल करने के लिए सभी कोई भी हथकंडे इस्तेमाल करने से पीछे नहीं हटेगी। बीजेपी नेता द्वारा मुरादाबाद सीट से हार मान लेना, वहां के लोगो द्वारा बीजेपी के प्रति उनके भरोसे को दिखाता है। यह भी कहा जा रहा है की कुंवर सर्वेश कुमार राजनीति दिग्गज माने जाते है। इसके बाद उनके द्वारा हार मान कर ऐसा बयान देना बीजेपी के लिए मुश्किलें खड़ी कर देगा।

अब इतना तो तय है की लोग देर से ही सही लेकिन धीरे धीरे भाजपा की असफलताओ और जुमलों को जानने लगे है। और इन्ही कारणों के चलते आने वाले चुनाव में मौजूदा सरकार को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved