fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

उत्तर प्रदेश: तीन राज्यमंत्रियों के निजी सचिव गिरफ्तार, ABP न्यूज़ के स्टिंग में घूस लेते दिखाई दिए

Uttar-Pradesh:-Three-secretaries-of-state-ministers-arrested,-caught-taking-bribe-in-ABP-News-sting
(Image Credits: socialpost.news)

उत्तर प्रदेश के तीन राज्यमंत्रियों के निजी सचिवों का स्टिंग सामने आने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। एबीपी न्यूज चैनल ने इनके खिलाफ एक स्टिंग किया, जिसमें तीनों तबादले, ठेका पट्टा दिलवाने के लिए डीलिंग करते हए नजर आये। यह मामला सामने आने के बाद राज्य सरकार ने तीनों सचिवों को 27 दिसंबर को निलंबित कर दिया था। इसके साथ ही उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करा दी गई थी। सरकार ने एसआईटी बनाकर 10 दिन में इसकी जांच रिपोर्ट मांगी थी।

Advertisement

हजरतगंज पुलिस ने करी कार्रवाई

हजरतगंज पुलिस ने शुक्रवार रात में राज्य के पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री ओमप्रकश राजभर के निजी सचिव ओमप्रकाश कश्यप, खनन मंत्री अर्चन पांडेय के निजी सचिव एसपी त्रिपाठी और बेसिक शिक्षा मंत्री संदीप सिंह के निजी सचिव संतोष अवस्थी को उनके आवास से गिरफ्तार कर लिया। इसके उपरांत उन्हें जज के सामने पेश करके जेल भेज दिया गया। आरोपियों की गिरफ्तारी एसआईटी की सिफारिश पर करी गई है।

योगी आदित्यनाथ ने बनाई थी एसआईटी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एडीजी लखनऊ राजीव कृष्णा की अध्यक्षता में एसआईटी का गठन किया। इसमें आईजी (एसटीएफ) और विशेष सचिव (आईटी) राकेश वर्मा शामिल थे। पिछले सफ्ताह योगी ने सभी मंत्रियों को अपने विभागों और कार्यालयों में भ्रष्टाचार के बारे में अधिकारियों और कर्मचारियों को जागरूक करने का निर्देश दिया था।


तीनों मंत्रियों ने ही अपने सचिवों पर कार्रवाई का निर्देश दिया

मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर अपने निजी सचिव के खिलाफ कार्रवाई करने करने को कहा। वहीं, राज्यमंत्री अर्चना पांडेय ने कहा था कि एसपी त्रिपाठी को जरूर सजा दिया जाना चाहिए। स्टिंग में ओमप्रकाश बेसिक शिक्षा विभाग में तबादले के लिए रिश्वत मांगने दिखाई दिए। स्कूलों में बैग और ड्रेस की सप्लाई के ठेके के लिए मंत्री अनुपमा जायसवाल के पति से डील करवाने की बात भी करी थी।

मुख्यमंत्री ने तीनो मंत्री को किया तलब

अर्चना पांडेय के निजी सचिव एसपी त्रिपाठी भी सहारनपुर सहित 6 जिलों में खनन पट्टा दिलवाने के लिए डील करते हुए स्टिंग में नजर आये। तीसरा मामला राज्यमंत्री संदीप सिंह के निजी सचिव संतोष अवस्थी का था। स्टिंग में अवस्थी को किताबों का ठेका दिलवाने के लिए डील करते हुए दिखाया गया था। इसमें निजी सचिव अपने हिस्से की मांग करते हुए देखे जा सकते हैं। स्टिंग में आये तीनों ही मंत्रियों को योगी सरकार ने तलब किया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved