fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

बिना आधिकारिक आंकड़ों के अमित शाह ने वायुसेना की कार्रवाई में 250 आतंकी मरने की कर दी पुष्टि

without-official-figures-amit-shah-has-confirmed-the-death-of-250-terrorists-in-the-action-of-the-iaf
(Image Credits: The Indian Express)

लगता है बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह हमारी वायुसेना के बारे में उनसे भी ज़्यादा जानते हैं। ऐसा उन्होंने अपने एक बयान देने के बाद सिद्ध कर दिया है। दरअसल हाल ही में IAF इंडियन एयर फाॅर्स द्वारा पडोसी मुल्क के आतंकी कैम्पो पर कार्रवाई की गई। जिससे पुरे देश में इसकी वाह वाही हुई थी, पूरे देश के साथ साथ हम भी इसको लेकर भारतीय वायुसेना की बहादुरी की मिशाल देते हैं। वहीं इस हमले में कितने आतंकी प्रभावित हुए वायुसेना ने इसकी पुष्टि नहीं की है। परन्तु भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इसकी जानकरी दे दी है। उन्होंने इसे सर्जिकल स्ट्राइक कहते हुए बताया की इस कार्रवाई में 250 आतंकियों को खत्म कर दिया गया।

Advertisement

अमित शाह ने यह बयान तब दिया जब वो गुजरात के अहमदाबाद में ‘लक्ष्य जीतो’ प्रोग्राम को संबोधित कर रहे थे। प्रोग्राम को संबोधित करते हुए उन्होंने पिछले पांच सालों में दो सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में जिक्र करते हुए कहा, ‘पिछले पांच सालों में उरी और जम्मू कश्मीर में CRPF के काफिले पर हमले की दो बड़ी घटनाएं हुईं. उरी हमले के बाद हमारी सेना ने पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की और हमारे जवानों की शहादत का बदला लिया। CRPF काफिले पर हमले के बाद हर कोई सोच रहा था कि इस बार सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हो सकती। अब क्या होगा? उस वक्त पीएम मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने हमले के बाद 13वें दिन एयर स्ट्राइक की और 250 आतंकियों को नुक्सान पहुंचाया।

इसके साथ उन्होंने विपक्षी पार्टियों पर वायुसेना की कार्रवाई पर सबूत मांगने पर निशाना साधते हुए कहा की उनके सवाल पूछे जाने से पडोसी मुल्क के चेहरे पर मुस्कारहट आती है। शाह ने यह भी कहा कि अगर ये पार्टियां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और देश के सशस्त्र बलों द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर हवाई हमले के जरिए हासिल की गई उपलब्धि की प्रशंसा नहीं कर सकतीं तो उन्हें ‘चुप रहना’ चाहिए।

अमित शाह को यह ध्यान रखना चाहिए की लगभग सभी विपक्षी पार्टियों ने भारतीय वायुसेना की इस करवाई को सराहा था। लेकिन अमित शाह ने विपक्षी पार्टियों पर झूठे आरोप लगाए और कहा की विपक्षी पार्टियों ने सेना की इस कार्रवाई की प्रशंसा न करते हुए उसे नकार दिया है। यह हमेशा देखा जाता है जब कभी भी भाजपा से सवाल पूछे जाते है तो, पार्टी ऐसा दिखाने की कोशिश करती है की जैसे उनसे बड़ा कोई और देश भक्त है ही नहीं।

अमित शाह ने आगे कहा, ‘विपक्षी नेता यह नहीं जानते हैं कि क्या हुआ. ममता दी ने सबूत मांगा है. राहुल बाबा कह रहे हैं कि इसका राजनीतिकरण किया जा रहा है. अखिलेश ने जांच की मांग की है. शर्म आनी चाहिए कि आपके बयान पाकिस्तान के चेहरे पर मुस्कुराहट लाए है.’


IAF की कार्रवाई पर सुरक्षा एजेंसी ने भी साफ तौर पर कुछ कहने से इंकार कर दिया है। उनका कहना है की नुकसान का ठीक ठीक आंकलन करना मुश्किल है। और अभी तक मीडिया द्वारा जितने भी आकड़ें बताये जा रहे है वो पूरी तरह से कल्पनिक हैं। इतना ही नहीं हाल ही में सेनाओं द्वारा इस बारे प्रेस वार्ता की गई। उसमे भी वायुसेना के Air Vice Marshal R.G.K Kapoor ने साफ तौर पर कितने आतंकियों को नुकसान पंहुचा है, इसके बारे में कुछ नहीं कहा है। और फिलहाल अभी तक भी वास्तव में कितना नुकसान पंहुचा है, ये कहा नहीं जा सकता है।

परन्तु अब बात यह आती है की बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने किस प्रकार 250 आतंकियों के प्रभावित होने की बात कह दी। यहाँ तक की IAF के Air chief Marshal BS Dhanoa ने भी कहा हमारा काम कार्रवाई करने के बाद आतंकियों की गिनने का नहीं है। जिससे की शाबित हो जाता है की, उन्हें भी इस बारे सही आंकड़े की जानकारी नहीं है।

अमित शाह द्वारा सेना की कार्रवाई के कोई भी आकड़े देश के सामने रख देने से एक बात का पता चलता है। सरकार लोगो से झूठ बोल रही है, और वोट पाने के लिए सेना द्वारा की गई कार्रवाई का राजनितिक फायदा उठाना चाहती है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved